साइलेंट योद्धाओं ने रोके कोरोना के कदम

देहरादून। देशभर में कोरोना के खिलाफ जुटे डॉक्टर पैरामेडिकल स्टॉप पुलिस तथा विभिन्न महकमों ने जहां अपने मजबूत इरादों से कोरोना को मात देने में दिन रात एक किया तो इसके लिए इसके सकारात्मक नतीजे भी सामने आए। बात करें उत्तराखंड की तो यहां पर साइलेंट योद्धाओं ने वह कर दिखाया जो भविष्य के लिए एक नजीर बनेगी। राजधानी देहरादून प्रदेश में एकमात्र ऐसा स्थान रहा जोकि रेड जोन में होने के साथ सर्वाधिक कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या के लिए भी जाना जाता है लेकिन सीमित संसाधनों के बावजूद मेडिकल स्टाफ कुछ साइलेंट योद्धाओं ने कोरोना के गलत इरादों पर पानी फेर दिया। स्थिति यह है कि अकेले दून अस्पताल में 27 मरीज आये जिसमें बेहतर उपचार पाने के बाद 80% से अधिक स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं और कुछ डिस्चार्ज के लाइन में है यहां तक की 9 माह का बच्चा भी डॉक्टर के बेहतरीन ट्रीटमेंट की वजह से स्वस्थ हो गया। कई जटिल केस डॉक्टर के समर्पण और कार्य कुशलता से बेहतर परिणाम में बदल गई। इन साइलेंट योद्धाओं में कई नाम उभर कर सामने आए जिनमें से दो प्रमुख नाम अस्पताल के प्राचार्य आशुतोष सयाना जो दिन रात अपनी टीम के साथ खड़े रहते हैं और हर समय मरीजों की रिपोर्ट लेते रहते हैं।

दूसरे कोरोना से लड़ाई में सबसे बड़ी भूमिका निभा रहे हैं महेंद्र भंडारी जो दून अस्पताल के रेडियो टेक्नोलॉजिस्ट है। भंडारी चमोली जिला रानो गांव से हैं उनका ग्रामीण जीवन बहुत ही संघर्षमय रहा है। अस्पताल के सभी कर्मचारियों के साथ उनके मधुर सम्बन्ध है। वह एक सुलझे हुए ब्यक्ति है और उनकी कार्य की सराहना सभी करते हैं। भंडारी सुबह 6 से लेकर रात एक बजे तक अस्पताल में रहते हैं। कोरोना की ड्यूटी में लगे लोगों के खाने से लेकर रहने तक की व्यवस्था भंडारी देखते हैं।

पूरी टीम तमाम परेशानियों और खतरों के बीच जोश के साथ 24 घण्टे काम कर रही है। यह टीम पिछले 45 दिनों से अपने घर नही गए है। जिनमे से उप चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर एन एस खत्री जो लगातार अपनी टीम के साथ जुटे हुए हैं। कोविड नोडल अधिकारी डॉक्टर अनुराग अग्रवाल, डॉक्टर नारायनजीत, डॉक्टर निधि उनियाल, संदीप राणा, अभय नेगी, गौरव, बसंती नेगी,जसलीन कौर, सचिन, आंनद, कमल नेगी, सुरेश पांडे, प्रदीप पोखरियाल, विराट अदि ऐसे सिपाही हैं जो अपनी जान जोखिम में डालकर मरीजों की देख रेख में जुटे हुए हैं।

7 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here