संस्कृति कर्मियों व लोक कलाकारों की भूमिका महत्वपूर्ण

देहरादून। भाजपा के प्रदेश प्रदेश महामंत्री (संगठन) अजेय ने संस्कृतिकर्मियों व लोक कलाकारों से अपील की है कि वे कोरोना काल में विभिन्न विषयों पर जन जागरण कर अपनी महत्वपूर्ण भूमिका सुनिश्चित करें।

श्री अजेय ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के संस्कृतिकर्मियों, रंगकर्मियों व लोक कलाकारों से संवाद स्थापित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि समाज में विभिन्न विषयों पर मानस निर्माण करने में संस्कृति कर्मियों व लोक कलाकारों की भूमिका महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि इतिहास साक्षी है, संस्कृतिकर्मियों ने समाज जागरण के कार्य में हमेशा से अपनी भागीदारी सुनिश्चित की है। उन्होंने कहा कि संस्कृतिकर्मी अपनी-अपनी विधा के माध्यम से कोरोना काल में समाज जागरण में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकते हैं। वे अपने प्रशंसकों के माध्यम से कोरोना महामारी से बचाव और रोकथाम को लेकर लोगों को सजग करने में भी अपना योगदान दें।

कार्यक्रम की संयोजक भाजपा की प्रदेश मंत्री श्रीमती मधु भट्ट ने कोरोना महामारी को लेकर केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों के बारे में चर्चा की। उन्होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार समाज के सभी वर्गों के हितों को लेकर संवेदनशील है और व्यापक स्तर पर तमाम योजनाएं संचालित की जा रही हैं।

वीडियो कांफ्रेंसिंग में संस्कृतिकर्मियों व लोक कलाकारों ने भी विभिन्न मुद्दों पर अपनी बात रखी और लोक कलाकारों की विभिन्न समस्याओं को सामने रखा। प्रदेश महामंत्री (संगठन) श्री अजेय ने उनके सुझावों को उचित स्तर तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। कांफ्रेंसिंग में उत्तराखंड कला एवं संस्कृति परिषद के अध्यक्ष घनानंद, गायक पद्मश्री प्रीतम भरतवाण, श्रीमती सोनिया आनंद, श्रीमती संगीता ढौंडियाल,  नत्थी लाल नौटियाल, सुश्री माया उपाध्याय, श्रीमती कल्पना चौहान, फिल्मकार  अनुज जोशी, रंगकर्मी  अभिषेक मेंदोला, नृत्यांगना श्रीमती बीना अग्रवाल,  गणेश वीरान, बलदेव राणा, श्री नंदलाल भारती, दिनेश उनियाल,  जितेंद्र चौहान,  मणि भारती, सुश्री सोनल वर्मा, पूनम सती,  दरबान नैथवाल, गिरीश सनवाल पहाड़ी आदि जुड़े थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here