बंसल बोले, कुछ बचत संकट काल के लिए या भविष्य की योजनाओं के लिए जरूर करें

देहरादून। नरेश बंसल (कैबिनेट मंत्री स्तर दर्जा प्राप्त) उपाध्यक्ष 20 सूत्री कार्यक्रम एवं क्रियान्वयन समिति ने एसोसिएशन ऑफ म्यूच्यूअल फंड इन इंडिया के द्वारा आयोजित विषय लाइव वेबीनार को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित किया। श्री बंसल ने कहा कि बचत करना अति आवश्यक है तथा प्राचीन काल से हमारे बुजुर्गों द्वारा भी यही पद्धति हमें सिखाई गई है कि अपनी कमाई हुई कुल राशि में से कुछ ना कुछ बचत संकट काल के लिए या भविष्य की योजनाओं के लिए की जाए। उन्होंने कहा आज भारत सरकार द्वारा बचत के बहुत से माध्यम है जैसे फिक्स डिपाजिट, शेयर बाजार, लैंड इन इक्विटी,सोना,चाँदी व म्यूच्यूअल फंड आदि बहुत से विकल्प मौजूद है जिसमे अपने सामर्थ्य के अनुसार अपनी आने वाली जरूरतों को ध्यान में रखते हुए निवेश किया जा सकता है। हमे अपने निवेश की समुचित प्लानिंग करनी चाहिए जो भविष्य के लिए बनाई योजनाओं को पूर्ण करने में मदद करें।
     श्री बंसल ने कहा कि इस कोरोना संकटकाल में वह निवेशक आर्थिक रूप से ज्यादा अच्छी स्थिति में रहा होगा जो पहले से बचत संबंधी योजनाओं में निवेश कर अपने आप को सुरक्षित रखे हुए थ। जिस व्यक्ति की कोई बचत नहीं थी उसके लिए यह समय ज्यादा संकट का था। जब निवेशक बाजार में आता है तो उसके सामने काफी सारे विकल्प होते हैं। उनका वह सही चुनाव कर सके उसके लिए विभिन्न क्षेत्रों में बहुत सारे एक्सपर्ट काम कर रहे हैं जिसमें से बहुत से लोग इस वेबीनार से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि इन एक्सपर्ट को चाहिए कि निवेशक को उसकी जरूरत अनुसार निवेश का सही माध्यम बताएं ताकि निवेशक अपने निवेश को लेकर सुरक्षित महसूस कर सकें तथा उसे निवेश पर उचित लाभ समय पर प्राप्त हो सके। श्री बंसल  ने कहा कि इस हेतु  भारत सरकार ने अलग-अलग क्षेत्रों की निवेशक नियामक आयोग एवं सेबी आदि के द्वारा एवं सख्त कानून बनाते हुए निवेशक का विश्वास मजबूत करने का कार्य किया जा रहा है उन्होंने कहा कि कोरोना संकटकाल में कैसे दुबारा अर्थव्यवस्था पटरी पर आए और देशी एवं विदेशी निवेशक भारत में ज्यादा से ज्यादा निवेश कर सकें इसकी योजना पर केंद्र व प्रदेश की सरकारों द्वारा बहुत तेजी से कार्य चल रहा है । श्री  बंसल ने एसोसिएशन ऑफ म्यूच्यूअल फंड इन इंडिया व उससे जुड़े सभी मित्रों को भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। वेबीनार में उपस्थित के एम शर्मा रीजनल मैनेजर ऑफ उत्तराखंड ग्रामीण बैंक ने बताया कि ई बैंकिंग एवं डिजिटल बैंकिंग को और सुचारु रूप से और जन जन तक इसकी सुविधाओं को पहुंचाये जाने के बारे में बताया। अंकित कुमार सीनियर प्रेसिडेंट द्वारा डीमेट अकाउंट के बारे में विस्तार से बताया गया। उसके बाद डिस्टिक मजिस्ट्रेट अल्मोड़ा नितिन सिंह भदोरिया द्वारा आम निवेशकों को  उनके निवेश के साधनों के बारे में जानकारी दी गई। एन एस डी एल के वाईस प्रेसिडेंट अंकित शर्मा ने भी संबोधित किया। सूर्यकांत शर्मा वरिष्ठ कंसलटेंट सतपाल सिंह डायरेक्टर आइटीबीपी ट्रेनिंग अकैडमी अल्मोड़ा तथा डॉक्टर संजय कुमार अग्रवाल कार्यक्रम संयोजक एवं अन्य प्रतिभागी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here