बंशीधर ने इंदिरा हृदयेश के दावे को सफेद झूठ बताया

देहरादून। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से निपटने के लिए बेहतर काम कर रही है। उन्होंने इस आपदा की घड़ी में काॅग्रेस को राजनीति ना करने की सलाह दी और नेता प्रतिपक्ष श्रीमती इंदिरा हृदयेश के उस दावे को पूरी तरह से सफेद झूठ बताया, जिसमें उन्होंने क्वारंटाइन किए गए पहाड़ के लोगों को उनके घर पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री से बात करने का वक्तव्य दिया था।

श्री भगत आज भाजपा प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से अनौपचारिक बात कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना महामारी की स्थिति शुरूआत से सामान्य रही है। जमातियों के कारण संक्रमित लोगों की संख्या में थोड़ा परिवर्तन हुआ है। मगर प्रदेश सरकार की सतर्कता व सजगता के चलते स्थिति नियंत्रण में है।
उन्होंने लाॅक डाउन के दौरान कुछ अपवादों को छोड़कर आम जनता के संयम और धैर्य की सराहना की । उन्होंने कहा कि आम जनमानस विशेषज्ञों व सरकार की सलाह व एडवाइजरी का निरंतर पालन करती रही तो जल्द ही महामारी पर काबू पाया जा सकता है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री भगत ने लाॅक डाउन के कारण आर्थिक स्थिति को लेकर कांग्रेस द्वारा सवाल उठाए जाने को उनका विपक्षी धर्म बताया। उन्होंने कांग्रेस द्वारा आर्थिक पैकेज घोषित किए जाने की मांग पर कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा लगातार सभी वर्गो के लिए तमाम योजनाएं संचालित की जा रही है और किसी के भी हितों की अनदेखी नहीं की जा रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता आपदा के समय में भी सियासत कर रहे हैं और श्रेय की राजनीति से बाज नहीं आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष श्रीमती हृदयेश ने दावा किया था कि मैदानी क्षेत्रों में क्वारंटाइन किये गए पहाड़ी क्षेत्रों के लोगों को उनके घर पहुंचाने के लिए श्रीमती हृदयेश ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से बात की। भाजपा अध्यक्ष ने दावा किया कि नेता प्रतिपक्ष की मुख्यमंत्री से किसी प्रकार की कोई बातचीत नहीं हुई। इसके विपरीत श्री भगत ने मुख्यमंत्री समेत शासन के के तमाम वरिष्ठ अधिकारियों से इस संबंध में बातचीत की और ऐसे लोगों को घर पहुंचाया गया।

7 COMMENTS

  1. cialis generic buy Notify your physician until the start of Cialis intake if a man has a curved penis or any other physical defects, coronary artery disease, angina pectoris, cardiac attack or cardiac failure, increased or decreased arterial blood pressure, gastric ulcers, diabetes, sickle-cell anemia, hepatic or kidney failure in the anamnesis

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here