नड्डा ने की प्रधानमंत्री के संकल्पबद्ध कदम की सराहना

देहली। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि कल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संदेश में ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ के तहत देश में विकास को गति देने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के विशेष एवं ऐतिहासिक पैकेज की घोषणा की। मैं देश की जीडीपी के लगभग 10% के बराबर के इस अभूतपूर्व पैकेज के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन करता हूँ।

उन्होंने कहा कि कोविड की त्रासदी के वैश्विक संकट से जीवटता के साथ निर्णायक लड़ाई लड़ रहे समग्र राष्ट्र के विकास एवं देशवासियों के कल्याण के लिए प्रधानमंत्री जी के इस संकल्पबद्ध कदम की जितनी भी सराहना की जाय, कम ही कम है।
यह पैकेज केवल कोविड-19 से लड़ने का माध्यम भर नहीं है, बल्कि यह देश को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में बढ़ाया गया एक अभूतपूर्व एवं प्रशंसनीय कदम है। ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ पैकेज के जरिए देश के विभिन्न वर्गों एवं आर्थिक व्यवस्था की कड़ियों को मजबूती दी जा सकेगी। 20 लाख करोड़ रुपए का ये पैकेज कोरोना से उत्पन्न संकट के बावजूद 2020 में देश की विकास यात्रा को एक नई गति देगा।
उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को सिद्ध करने के लिए इस पैकेज में देश के गरीबों, मजदूरों और मध्यम व लघु उद्योगों का विशेष ध्यान रखा गया है क्योंकि यही आत्मनिर्भर भारत के हमारे संकल्प के मजबूत आधारस्तंभ हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कल के अपने उद्बोधन में जिन पांच पिलर्स अर्थव्यवस्था, बुनियादी ढांचा, शासन व्यवस्था, जीवंत लोकतंत्र और आपूर्ति श्रृंखला का जिक्र किया था, यह विशेष पैकेज इन पिलर्स को और मजबूती देने का काम करेगा।

यह आर्थिक पैकेज देश के उन श्रमिक बंधुओं और किसानों के लिए है जो हर मौसम में, विपरीत परिस्थितियों में भी देशवासियों के लिए दिन-रात मेहनत करते हैं। यह पैकेज देश के उन मध्यम वर्ग के लोगों के लिए है जो ईमानदारी से टैक्स देते हैं और देश के विकास में अपना योगदान देते हैं।

उन्होंने कहा कि समस्याओं को चुनौतियों में बदल कर लक्ष्य को हासिल करने के लिए आज वे सभी कदम समय से पूर्व ही उठाये जा रहे हैं जिसकी आज से पहले किसी ने कल्पना भी नहीं की थी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश हर हाल में कोविड-19 के खिलाफ इस निर्णायक लड़ाई को जीत कर ही दम लेगा। यह मानव इतिहास का सबसे बड़ा संकट है लेकिन भारत हार नहीं मानेगा, और सशक्त एवं समृद्ध राष्ट्र के रूप में उभरेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here