भट्ट बोले, मजदूरों पर न बनाएं दबाव

देहरादून। बद्रीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट ने देशव्यापी लाॅकडाऊन को जरूरी कदम बताते हुए कहा कि दुनियाभर से आ रही कोरोना की भयावह तस्वीरों को देखते हुए हमारी सरकार ने समय पर लॉक डाउन का फैसला लेकर एक सराहनीय कदम उठाया है जो इस वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना की रोकथाम में मददगार सिद्ध हो रहा है।
वही विधायक महेंद्र भट्ट जनता को जागरूक करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि इस समय सभी राज्यों की सरकारें चाहे वो किसी भी पार्टी की सरकार हो केंद्र सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलते हुए इस महामारी से निपटने की भरसक कोशिश कर रहे हैं।यह समय थोड़ा मुश्किल भरा है लेकिन सावधानी बरतने से हमारा बचाव होगा, इसलिए सरकार व विशेषज्ञों द्वारा दी जा रही सलाह का अनुपालन करना हर एक नागरिक का परम कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि इस अफरातफरी का सबसे ज्यादा असर हमारी गरीब व दिहाड़ी मजदूरी करने वाले गरीब वर्ग के लोगों पर पड़ रहा है, इसलिए ठेकेदारों को उनके हितों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। सड़को पर काम करने वाले मजदूूूर अधिकांश बाहर के हैं ऐंसे में उनका ध्यान देना अतिआवश्यक हैं।  उत्तराखंड में आलवेदर रोड एवम प्रधानमंत्री ग्राम सड़क निर्माण में हजारों की संख्या में मजदूर काम कर रहे हैं उन्हें वापस उनके घर जाने का दबाव नही बनना चाहिये,बल्कि ठेकेदारों एवम सरकार को उनकी आवश्यकता का ध्यान देना चाहिए,अगर ये वापस चले गए तो पुनः इनको इक्कठा करने में 6 महीने से साल तक लग सकता है, जिससे सड़को के कार्य साल भर वाधित हो जाएंगे,और विकास प्रभावित होगा। कोरोना से मुकाबला जितना जरूरी है उतना ही जरूरी हमारी गरीब जनता की देखभाल का भी है इसलिए ठेकेदार अपने वर्करों का खानेपीने व रहने की उचित ब्यवस्था करें। जिससे आगे काम भी वाधित न हो। महेंद्र भट्ट ने कहा कि सरकार द्वारा मजदूरों को 1000 रुपये की सहायता राशि दिये जाने की घोषणा भी की हे। मेरी उत्तराखण्ड ठेकेदारो से अपील है कि इस मुश्किल घड़ी में सहयोग करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here