बदरीनाथ हाइवे पर मलबा आने से जगह-जगह बाधित

देहरादून। चमोली जिले में सड़कों पर मलबा आने, गांवों में जमीन दरकने का सिलसिला अभी भी नहीं थमा है। बदरीनाथ हाईवे, गुलाब कोटी, छिनका, पागल नाला, पीपलकोटी के निकट भनेर पानी, काली मंदिर टंगणी, घुड़सिल, (हनुमान चट्टी) लामबगड़ में सड़क पर भारी बोल्डर व मलबा आने से बाधित रहा। गोपेश्वर मंडल चोपता मोटर मार्ग भी जगह जगह बाधित है।
गोपेश्वर पोखरी सड़क पर चार जगह मलबा आने से सड़क बंद है। थराली देवाल रूट पर देवाल तिराहा  पर भारी मलबा आने से सड़क बंद रही। जिला मुख्यालय समेत जिले के कई स्थानों पर पेय जल आपूर्ति ठप पड़ी है। लोग पानी की बूंद बूंद के लिये भटके। बुधवार को भी चमोली में लोग कुदरत की नाराजगी के शिकार बने। गांवों में सबसे अधिक परेशानी दिखी। जमीन दरकने और मलबा आने से घरों की आगे की दीवार ढह गयी। डुमक गांव में गांव के दोनों तरफ के रास्ते टूट गए। ग्रामीण हरि सिंह की गोशाला को नुकसान पहुंचा। अन्य गांवों मे भी कुछ लोगों के आवासीय मकान, खेत गोशालाओं को नुकसान होने की शिकायत ग्रामीणों ने की है।
चमोली जिले में 26 लिंक मार्ग बाधित होने से ग्रामीण जिन्दगी रुक सी गई है। लोग निकट के बाजारों, अस्पतालों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। आपदा प्रबंध कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार लो नि वि  प्रान्तीय खंड गोपेश्वर की 7, प्रान्तीय खंड कर्णप्रयाग की 2 गैरसैंण की एक, पोखरी की तीन, पीएमजीएसवाई पोखरी के अंतर्गत 9 पीएमजीएसवाई कर्णप्रयाग 1 व 2 की दो-2 सड़कें बाधित रहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here