अजेंद्र ने दी कांग्रेस को राजनीति ना करने की सलाह

देहरादून। पूर्व मुख्यमंत्री  हरीश रावत द्वारा कांग्रेस नेता  राहुल गांधी के बयान के समर्थन में किए गए ट्वीट पर भाजपा ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। पार्टी ने कहा कि कांग्रेस नेता संकट के समय भी राजनीति खेल रहे हैं और उनमें केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ बयानबाजी करने की होड़ मची हुई है।

प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी अजेंद्र अजय ने कहा कि श्री रावत ने जिस प्रकार से  राहुल गांधी के बयान का समर्थन किया हैं, उससे यह लगता है कि कांग्रेस नेता तथ्यों व तर्कों के बारे में आंखें मूंदे बैठे हैं और श्री गांधी के उल-जुलुल बयानों को आगे बढ़ा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आज पूरा देश प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एकजुट होकर कोविड – 19 के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ रहा है। जब पूरी दुनिया जानलेवा कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रही है, तब देश में इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए उठाए गए कदमों की तारीफ पूरे विश्व में हो रही है। वैश्विक त्रासदी की इस घड़ी में देश की सबसे पुरानी और प्रमुख विपक्षी पार्टी के नेताओं द्वारा दिए जा रहे बयान हमारी लड़ाई को कमजोर करते हैं और यह कांग्रेस पार्टी के नेताओं के संवेदनहीनता की पराकाष्ठा को भी प्रदर्शित करते हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी कोरोना संकट के समय बड़े धैर्यपूर्वक और दृढ़ता के साथ निर्णय ले रहे हैं। लॉक डाउन के कारण समाज के किसी वर्ग को किसी प्रकार की कठिनाई ना हो, इसका केंद्र सरकार लगातार ध्यान रख रही है। लॉक डाउन के दृष्टिगत केंद्र ने सभी वर्गों के लिए कुछ ना कुछ योजनाएं संचालित की हैं।

भाजपा मीडिया प्रभारी ने श्री रावत द्वारा लॉक डाउन के कारण प्रदेश से बाहर फंसे प्रवासियों के मुद्दे को लेकर किए गए ट्वीट पर भी कांग्रेस को राजनीति ना करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता क्या चाहते हैं कि प्रदेश सरकार बिना कायदे – कानून के अपनी सीमाएं पूरी तरह से खोल दे ? क्या कांग्रेसियों को उत्तराखंड में कोरोना महामारी की नियंत्रित स्थिति अच्छी नहीं लग रही है? उन्होंने कहा कि त्रिवेंद्र सरकार प्रवासियों के मुद्दे को लेकर संवेदनशील है। उनकी वापसी के लिए चरणबद्ध तरीके से जुटी हुई है। प्रवासियों को अपने – अपने स्थानों पर कोई कठिनाई ना हो, इसके लिए भी सरकार प्रयासरत हैं। उन्होंने हरीश रावत से यह भी सवाल किया कि क्या पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव होने के नाते वे सारे प्रवासियों को एक साथ अपने – अपने प्रदेशों में वापस लाने का सुझाव राजस्थान व छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकारों को भी देंगे ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here