पुलिस की टीम गहरी नींद में सोती रह गई कैदी चकमा देकर फरार

हरिद्वार। पुलिस कस्टडी रिमांड पर लाया गया एक कैदी महाराष्ट्र पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। देहरादून से लौटने के दौरान पुलिस टीम कैदी के साथ हरिद्वार में एक लॉज में ठहरी थी। महाराष्ट्र पुलिस की टीम गहरी नींद में सोती रह गई और कैदी हथकड़ी सहित फरार हो गया। सुबह पुलिसकर्मियों की आंख खुलने पर हड़कंप मच गया। महाराष्ट्र और हरिद्वार की पुलिस मिलकर कैदी की तलाश कर रही है।
पुलिस के मुताबिक मुंबई के तलोजा थाने से असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर (एपीआइ) प्रसाद डोंगर, पीएन एम खेंडकर, महेश पाटिल और उमेश पाटिल अपहरण और पोक्सो एक्ट के आरोपित अमित ब्रह्मानंद निवासी खार वाला मुंबई को पुलिस कस्टडी रिमांड पर देहरादून लेकर आए थे। मंगलवार रात पुलिस देहरादून से हरिद्वार पहुंची और हरकी पैड़ी के एक पुरोहित लॉज में कमरा लिया। रात में पुलिसकर्मी कैदी को हथकड़ी लगाकर सो गए। किसी वक्त मौका पाकर कैदी हथकड़ी सहित लॉज से फरार हो गया। बुधवार सुबह पुलिसकर्मी नींद से जागे तो कैदी गायब था। इससे पुलिस टीम के पैरों तले जमीन खिसक गई। पुलिस ने होटल कर्मचारियों से कैदी के बारे में पूछताछ की। आस-पास गंगा घाटों पर उसकी तलाश की, मगर कैदी का कोई सुराग नहीं मिल पाया। तब पुलिस टीम हरिद्वार शहर कोतवाली पहुंची और पूरी कहानी बताई। एपीआइ प्रसाद डोंगर ने हरिद्वार शहर कोतवाल प्रवीण सिंह कोश्यारी को बताया कि कस्टडी से फरार हुआ अमित नाबालिग लड़की के अपहरण के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। नाबालिग को भगा ले जाने के दौरान उसने देहरादून में पीड़िता को रखा था। इसलिए जांच के सिलसिले में उसे साथ लेकर देहरादून आए थे। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि महाराष्ट्र पुलिस की ओर से कोई लिखित शिकायत नहीं दी गई है। फिर भी उन्हें साथ लेकर कैदी की तलाश कराई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here