जन पक्षीय मुद्दों पर की अपनी आवाज बुलंद

चमोली। देश के जनवादी संगठनों के संयुक्त आवाहन पर आज 21 अप्रैल 2019 को चमोली में भी अपने-अपने घरों के दरवाजे बरामदे वह छत में 10:30 बजे से दस मिनट तक विभिन्न जन संगठनों के लोगों ने अपने हाथों में पोस्टर लेकर जन पक्षीय मुद्दों पर अपनी आवाज बुलंद की और सरकार से मांग की गई कि इस महामारी के दौर में सरकार द्वारा जो व्यापक तैयारियां व इंतजाम किए जाने चाहिए थे उसमें सरकार नाकाम हुई है। केंद्र सरकार ने इस कोरोना महामारी से निपटने के लिए 1.7 लाख करोड़ रुपए के जो वित्तीय पैकेज की घोषणा की है वह देश की विशालकाय जनसंख्या के अनुपात में बहुत ही कम है । यह पैकेज की जो राशि है हमारे देश की जीडीपी के 0.8 फीसद से भी कम है। यहां पर यह याद दिलाना इस वक्त जरूरी है कि मलेशिया ने अपने देश की जनता के लिए अपने जीडीपी के 16 फीसद के बराबर पैकेज की घोषणा की है वहीं अमेरिका ने 9 फीसद जर्मनी ने 8 फीसद, इटली ने 5 फीसद से भी ज्यादा पैकेज की घोषणा की है। दुनिया के इन प्रमुख देशों की तुलना में भारत अपने नागरिकों की जान बचाने के लिए खर्च करने में बहुत ही कंजूसी दिखा रहा है जो कि अपने आप में बहुत ही चिंताजनक बात है। भारत के इस उत्प्रेरक पैकेज को बढ़ाकर जीडीपी का 5 फीसद या उससे भी ज्यादा किया जाना नितांत आवश्यक है साथ ही केंद्र सरकार के पास खाद्यान्न भंडार में 7:30 लाख करोड़ टन से भी ज्यादा अनाज भरा पड़ा है इस वक्त भूखे लोगों तक निशुल्क अनाज पहुंचाने की नितांत आवश्यकता है इसलिए आज के इस राष्ट्रव्यापी जन संगठनों के आह्वान पर हम सरकार से मांग करते हैं कि स्वास्थ्य कर्मियों को तमाम जरूरी उपकरण मुहैया कराने टेस्टिंग को व्यापक व तेजी से आगे बढ़ाने के अलावा माग करते है कि गैर आयकर दाता परिवारों के लिए फौरन ₹7500 का नगद हस्तांतरण करो। सभी जरूरतमंदों के लिए मुफ्त खाद्यान्न का वितरण करो। वित्तीय उत्प्रेरण पैकेज को मौजूदा 0.8 से बढ़ाकर जीडीपी का कम से कम पांच फीसद करो। उदारता से फंड देकर राज्य सरकारों की सहायता करो। C2 + 50 के हिसाब से घोषित समर्थन मूल्य पर किसानों की फसल खरीदो। काम हो या ना हो सभी पंजीकृत मनरेगा मजदूरों को मजदूरी दो। मजदूरों कर्मचारियों का रोजगार छिन जाने तथा मजदूरी कटौती से बचाने के लिए मालिकान को वित्तीय सहायता दो। प्रवासी मजदूरों को अपने घर लौटाने की व्यवस्था करो। इन मांगों के समर्थन में जनपद के विभिन्न हिस्सों में लोग आज इन मांगों का पोस्टर लेकर अपने घरों से इन मांगों को उठा रहे हैं पूरे देश व्यापी एकजुटता के साथ गोपेश्वर में इस कार्यक्रम में शामिल होने वाले किसान सभा के राजपाल कनियाल,जनवादी महिला समिति के श्रीमती पुष्पा किमोठी,ममता गौड़, गीता बिष्ट, लता मिश्र,मीना, उषा,विमला बर्तवाल,शैलजा,जनवादी नौजवान सभा के गजेंद्र बिष्ट, सीटू के मदन मिश्रा आदि लोग शामिल रहे।

6 COMMENTS

  1. Robert Kiltz, a reproductive endocrinologist, and fertility specialist here at CNY Fertility our diet and other things we choose to consume is the single greatest factor we have control over that can radically increase the odds of conception and pregnancy. metformin and clomid

  2. Many experiments on PCOS patients have proved that antioxidants can not only improve the ovarian environment, promote follicular maturation, and elevate oocyte quantities but can also regulate lipid and glucose metabolism as well as vascular endothelial cell function in PCOS patients, thereby attenuating adiposity and reducing the occurrence rate of chronic complications to ensure that patients can obtain long-term benefits. generic tamoxifen 20mg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here