हर मोर्चे पर आगे दिखती है भाजपा

पारितोष बंगवाल

देहरादून। चुनावी माहौल हो या फिर कोई विशेष अभियान, हर कार्य को अनुशासित तरीके से पूर्ण कर पाना ही भारतीय जनता पार्टी की विशेषता है। यही विशेषता भाजपा को अन्य पार्टियों से अलग बनाती है। उत्तराखंड भाजपा की बात करें, तो पार्टी हर अभियान में अग्रिम मोर्चे पर दिखाई देती है।
प्रदेश में विगत दिवस नागरिकता ( संशोधन ) अधिनियम ( सी ए ए) के पक्ष में व्यापक अभियान चला। भाजपा ने पूरे प्रदेश में सी ए ए को लेकर प्रदेश से लेकर मंडल स्तर तक कार्यक्रम जैसे सभी 70 विधानसभाओं में रैलियां, गोष्ठी, पत्रकार वार्ता, जन संपर्क जैसे विस्तृत कार्यक्रमों की झड़ी लगा दी।

भाजपा के प्रदेश नेतृत्व की सुनियोजित व कारगर रणनीति के चलते सभी कार्यक्रम सफल साबित हुए और जनता का ध्यान खींचने में सफल रहे। पार्टी जनता के बीच में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर फैलाए जा रहे भ्रम को दूर करने और इस मुद्दे पर लोगो को जागरूक करने के अपने लक्ष्य में सफल रही।

उत्तराखंड में इस अभियान की सफलता का श्रेय काफी हद तक प्रदेश महामंत्री (संगठन) अजेय कुमार को जाता है। अजेय कुमार की उत्तराखंड में प्रदेश महामंत्री ( संगठन ) के रूप में नियुक्ति को अभी ज्यादा समय नहीं हुआ है। मगर इसके बावजूद वो अब तक पूरे प्रदेश का भ्रमण कर चुके हैं और राज्य के सभी तथ्यों को भली – भांति समझने की कोशिश में दूर – दराज के कार्यकर्ताओं से भी सीधा संवाद कायम कर रहे हैं। इसका परिणाम नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर चलाए गए अभियान में देखने को मिला।

अभियान के दौरान अजेय कुमार खुद भी प्रदेश के व्यापक प्रवास पर रहे। मगर इसके बावजूद वो प्रदेश में आयोजित हो रहे कार्यक्रमों की समीक्षा प्रतिदिन करते रहे। अभियान की सफलता के लिए सोशल मीडिया का किस प्रकार से उपयोग किया जा सकता है, इसके लिए भी उनके द्वारा लगातार प्रयास किए जाते रहे और खुद इसकी मॉनिटरिंग करते रहे।

अभियान के दौरान हल्द्वानी में कार्यक्रम पूरे करने के बाद जब अजेय कुमार अपने साथियों के साथ अल्मोड़ा – बागेश्वर की ओर बढ रहे थे तब पहाड़ी मार्ग पर एक अनियंत्रित ट्रक के साथ उनकी कार की भिड़ंत हो गई और उनकी कार बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। बावजूद इसके अजेय कुमार ने अपना प्रवास निरस्त नहीं किया बल्कि निरंतर आगे बढ़ते रहे। चमोली जिले के देवाल में जहां उस दौरान भारी बर्फबारी भी हो रही थी वहां खराब मौसम और खराब रास्तों की परवाह किए बिना अजेय कुमार निरंतर प्रवास करते रहे और साथ ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा चलाए जा रहे प्राथमिक शिक्षा वर्गों में भी प्रतिभाग किया। अजेय कुमार की निरंतर सक्रियता का इस अभियान पर असर दिखना स्वाभाविक ही था।

उधर, वर्तमान में दिल्ली में चल रहे विधानसभा चुनावों की कमान उत्तराखंड की तरफ से प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने संभाली। मुख्यमंत्री रावत ने अपने तमाम मंत्रियों, विधायकों व वरिष्ठ नेताओं के साथ दिल्ली में धुंआ धार प्रचार अभियान चलाया।

भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व द्वारा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल ‘ निशंक ‘ को स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया गया है। दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रचार अभियान में मुख्यमंत्री रावत व डॉ निशंक के अलावा शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ धन सिंह रावत, सांसद अजय भट्ट, महारानी माला राज्य लक्ष्मी शाह, तीरथ सिंह रावत, विधायक मुन्ना सिंह चौहान, पूर्व दर्जाधारी अजेंद्र अजय आदि प्रमुख हैं। उत्तराखंडी नेताओं की दिल्ली विधान सभा चुनाव में सक्रियता निश्चित रूप से भाजपा को बड़त दिलाने में कामयाब होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here