भगवान आदिबद्री जी को लगाया नया अनाज का भोग

देहरादून। कोरोना के वैश्विक संकट को देखते हुये आज  बिना गाजे बाजे के साथ नोठा कौथिग ठीक बारह बजे  मालगुजार गुलाब सिंह पंवार के हाथों भगवान आदिबदरी नाथ को पारम्परिक रूप से पूजा अर्चना के साथ नया अनाज का भोग लगाया गया। मालगुजार गुलाब सिंह के आदिबद्री पहुंचने पर मन्दिर समिति के उपाध्यक्ष विनोद नेगी , महासचिव गैंणा सिंह रावत व नरेन्द्र सिंह चाकर , कोषाध्यक्ष नरेश बरमोला ने परम्परा के अनुसार मंदिर परिसर के प्रवेश द्वार पर फूल बरसा कर उनका स्वाग किया मन्दिर समिति के उपाध्यक्ष विनोद नेगी ने उन्हें गढ़वाल का गौरव माने जाने वाली सरज की काली टोपी भैंट की और फिर साफा और तलवार भी भैंट किया। इस वर्ष कोविड 19 के चलते मेला समिति ने इस मेले को स्थगित कर दिया था आदिबदरी मन्दिर के पुजारी चक्रधर थपलियाल ने बताया कि उनके पिता जी और उनकी पीढ़ी में पहली बार बिना नौठा नृत्य बिना गाजे-बाजे के वे खेती के मालगुजार के हाथों नया अन्न चढ़ा रहे हैं

मन्दिर में गांवों के लोगों को पूजा में आने के लिए मन्दिर समिति ने पहले ही मना कर दिया था क्यों कि तहसील प्रशासन की ओर से केवल पूजा में पांच लोगों के शामिल होने की अनुमति मिली थी कुछ लोग गांवों के जो बाजार में आए थे सड़क से ही चलते चलते उन्होंने अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए नायब तहसीलदार रवि शाह व्यवस्था पर नजर रखने के लिए लगातार मौके पर मौजूद रहे

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here