कुकृत्य से राजधानी में इंसानियत हुई शर्मसार

देहरादून। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी  की सरकार ने प्रताड़ित हिन्दू शरणार्थियों को नागरिकता प्रदान की, ताकि भारतीय नागरिक होने के नाते इनके मूलभूत अधिकार से वंचित रख रही दिल्ली सरकार इन शोषित वंचित और उपेक्षित लोंगों को यह अधिकार मिले इसके बजाए अवैध रोहिंग्या घुसपैठियों को बिजली,पानी,राशन देकर बसाने में लगी है और इन हिन्दू शरणार्थियों को उजाड़ने में कोई कोर कसर नही छोड़ रही है

भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व दिल्ली व उत्तराखंड के प्रभारी श्याम जाजू ने आज केजरीवाल सरकार यह गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि ऐसा कर केजरीवाल सरकार दिल्ली में मानवाधिकार कानून का उल्लंघन तो कर ही रही है साथ ही उसके ऐसे कुकृत्य से राजधानी दिल्ली में इंसानियत शर्मसार हुई हैं।

उल्लेखनीय है कि नागरिक संसोधन कानून के तहत पाकिस्तान से आये तकरीबन 1500 से ज्यादा हिदू शरणार्थी को दो गज जंगल नुमा जमीन मिली पर उनको वह कुछ भी मयस्सर नही है जो जिंदगी जीने के लिए होनी चाहिए। मसलन विजली,पानी और शौचालय आदि जैसे मूलभूत सुविधाओं के अभाव में जी रहे इन परिवारों को मूलभूत सुविधा मिलने की उम्मीद तब बढ़ी, जब इन्हें कानूनी रूप से भारतीय नागरिक का दर्जा प्राप्त हुआ।
ऐसे में दिल्ली के प्रभारी होने के नाते श्री श्याम जाजू का इनके इस तरफ ध्यान आज से छह माह पहले दिलाया गया जिनके प्रयासों के चलते स्वयं सेवक संघ ने वहां मूलभूत सुविधा की व्यवस्था की पर वह भी कब तक करेंगे, अब जबकि ये शरणार्थी भारतीय नागरिक के नाते इसके हकदार है।
श्री जाजू का कहना है अब जबकि इनको नागरिकता मिली हुई है तो इनको मूलभत सुविधा दिल्ली सरकार नही देने का मतलब क्या है? केजरीवाल सरकार सिर्फ वोट की राजनीति के तहत ऐसा कर रही है इनको यह सुविधा देने का राजनीतिक लाभ अल्पसंख्यक वोटो की तरह आम आदमी पार्टी को फायदा नही मिलेगा इसलिये इनको यह सुविधा ना देकर केजरीवाल सरकार उनको सुविधा यह सारी सुविधा दे रही जो देश और राजधानी में अपराध और आतंक पर्याय बन चुके बेगलादेशी और रोहंगिया मुसलमान है।जिनको ऐसा करने का मतलब इस वर्ग के हितैषी साबित करने की मंशा मात्र से की जाती है।
उन्होंने बताया कि केजरीवाल सरकार के इस असवैधानिक और अमानवीय कृत्य को मानवाधिकार आयोग ने भी उनकी शिकायत पर संज्ञान लेते हुए कारवाई शुरू की है देर सवेर इनको इंसाफ मिलेगा पर केजरीवाल सरकार के इस रवैये से वो भी ऐसे में जब कोरोना में गरीब लोगो के नाम पर केंद्र सरकार राशन दे रही है पर केजरीवाल सरकार उन राशन को इन्हें ना देकर उन पर मेहरबान हो रही है जो देश के दुश्मन है और इन गरीब को सताने का काम कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here