कृषि क्षेत्र के बुनियादी ढांचे के लिए एक लाख करोड

देहरादून। प्रदेश भाजपा ने मोदी सरकार के आर्थिक पैकेज पर वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण द्वारा तीसरे चरण में खेती-किसानी व पशुपालन के क्षेत्र में की गई घोषणाओं को बुनियादी ढांचे को मजबूती देने वाला कदम बताया है।

भाजपा के मीडिया प्रभारी अजेंद्र अजय ने कहा कि केंद्रीय वित्त मंत्री ने पहले चरण में एमएसएमई व दूसरे चरण में लॉक डाउन के कारण प्रभावित प्रवासी मजदूरों को लेकर व्यापक घोषणाएं की हैं। तीसरे चरण में वित्त मंत्री ने कृषि, पशुपालन, डेयरी और संबद्ध गतिविधियों पर केंद्रित घोषणाओं में खेती और किसानी को लेकर अपनी प्रतिबद्धताओं को प्रदर्शित किया है।

उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र के बुनियादी ढांचे के लिए एक लाख करोड रुपए, सूक्ष्म खाद्य इकाइयों के लिए दस हजार करोड़ रूपए, मत्स्य पालन के लिए 20 हजार करोड़ रुपए, डेयरी इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए पंद्रह हजार करोड़ रूपए, पशुओं के वैक्सीनेशन के लिए तेरह हजार करोड़ रूपए आदि जैसे तमाम प्राविधान कर ग्रामीण भारत के विकास की अवधारणा को मूर्त रूप देने का प्रयास किया गया है।

उन्होंने कहा कि यह सर्वविदित है कि देश की अधिकांश जनसंख्या कृषि पर निर्भर है। मोदी सरकार ने इस तथ्य को ग्रामीण विकास का आधारभूत सिद्धांत मानते हुए खेती- किसानी के क्षेत्र पर फोकस किया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की इस पहल से कृषि उद्यमियों व स्टार्ट- अप को फायदा मिलेगा और किसानों की आय बढ़ेगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here