स्व० राजीव गांधी को शहादत दिवस पर याद किया  

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में आधुनिक भारत के निर्माता, भारत रत्न, पूर्व प्रधानमंत्री स्व० राजीव गांधी जी के शहादत दिवस पर आज प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय, राजीव भवन राजपुर रोड़, देहरादून में श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कांग्रेसजनों ने प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में स्व० राजीव गांधी जी की मूर्ति पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित करते हुए राजीव गांधी अमर रहे, जबतक सूरज चांद रहेगा राजीव तेरा नाम रहेगा आदि नारे लगाकर अपने प्रिय नेता को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके उपरान्त प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने तहसील चैक स्थित राजीव गांधी काम्प्लेक्स में राजीव जी की मूर्ति पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये।
इस अवसर पर उपस्थित कांग्रेसजनों को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने स्व० राजीव गांधी जी को भारत में सूचना क्रान्ति का जनक बताते हुए कहा कि उन्होंने देश को शक्तिशाली व सम्पन्न राष्ट्रों की श्रेणी में खड़ा करते हुए भारत की एकता व अखण्डता के लिए अपना सर्वस्व बलिदान कर दिया था। उन्होंने कहा कि स्व० राजीव गांधी जी ने संविधान में संशोधन कर पंचायतों को अधिकार सम्पन्न बनाकर युवाओं को मतदान का अधिकार देकर देश की मुख्य धारा से जोड़ने तथा भारत के लोकतंत्र को मजबूत बनाने की पहल की थी। भारत को आर्थिक महाशक्ति व सूचना क्रान्ति में अग्रणी देश बनाने की बुनियाद भी राजीव गांधी जी ने डाली थी उन्हीं के प्रयासों के कारण आज विश्व के देश भारत को महाशक्ति बनते देख रहे हैं। पड़ोसी देशों से मधुर सम्बन्ध बनाने की पहल स्व० राजीव गांधी जी द्वारा की गई थी।
इस अवसर पर पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत, प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकानत धस्माना, प्रदेश उपाध्यक्ष आर्येन्द्र शर्मा, प्रदेश महामंत्री पी.के. अग्रवाल, प्रदेश महामंत्री नवीन जोषी, प्रदेश महामंत्री राजेन्द्र शाह, पूर्व मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण, पूर्व मंत्री अजय सिंह, विशेष आमंत्रित सदस्य सुभाष चौधरी, मनीश खण्डूरी, पूर्व प्रवक्ता लखपत बुटोला, महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा पूर्व विधायक राजकुमार, जिलाध्यक्ष गौरव चौधरी, जिलाध्यक्ष संजय किशोर, प्रभुलाल बहगुणा, नवीन पयाल, पूर्व सैनिक के कै० बलवीर सिंह रावत सहित अनेक कांग्रेसजन उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here