हल्द्वानी। केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि नागरिक संशोधन कानून देश की जरूरत है। इस कानून से देश मे किसी को भी डरने की जरूरत नहीं है। पाकिस्तान, अफगानिस्तान व बंग्लादेश में अलपसंख्यकों पर बड़ रहे उत्पीड़न को ध्यान में रखते हुए उन्हें भारत की नागरिकता दिलाने के लिए यह कानून बनाया गया है।
भाजपा के कुमाऊं संभाग कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए डॉ. निशंक ने कहा कि इस कानून का विरोध केवल राजनैतिक पार्टियां और कुछ लोग ही कर रहे हैं। देश की जनता को इनके भ्रमजाल से बाहर निकलने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस कानून की आड़ में शैक्षिक संस्थानों को निशाना बनाया जा रहा है। देश के बड़े शैक्षणिक संस्थानों को राजनीति का अड्डा नहीं बनाने दिया जाएगा। उन्होंने छात्रों से अपील की कि वह सीएए के समर्थन में आगे आएं। कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में हमें विश्व रैंकिंग पर जाना है। इसीलिए विपक्षी दल शैक्षणिक संस्थानों को राजनीति का अखाड़ा बनाने में लगे हुए हैं। केंद्रीय मंत्री ने का कि वर्तमान में कांग्रेस की स्थिति बुझते हुए दिए की तरह हो चुकी है। इसीलिए कांग्रेस के नेता सीएए को लेकर देश की जनता को गुमराह करने में लगे हुई है। उन्होंने कहा कि देश के सत्तर साल के इतिहास में उत्तराखंड में अब तक सबसे अधिक विकास कार्य केंद्र की मोदी सरकार के शासन में हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here