आचार्य जोशी बोले, रुद्रप्रयग कोटी मदोला के ग्रमीणों ने की नजीर पेश

देहरादून। देशभर में कोरोना के खिलाफ जुटे विभिन्न महकमों ने जहां अपने मजबूत इरादों से कोरोना को मात देने में दिन रात एक किया तो इसके लिए इसके सकारात्मक नतीजे भी सामने आए। बात करें उत्तराखंड की तो यहां पर कई योद्धाओं ने वह कर दिखाया जो भविष्य के लिए एक नजीर बनेगी। ऐंसे ही रुद्रप्रयाग कोटी मदोला मैं ग्रामीणों द्वारा खुद बनाया गया क्वॉरेंटाइन सेंटर को आध्यात्मिक गुरु आचार्य  विपिन जोशी ने उनके कार्य को सराहा है। उन्होंने कहा कि हम जब हर छोटे-छोटे कार्य के लिए सिर्फ सरकारों की ओर जाते हैं और सरकारों को कोसते हैं ऐसे समय में कोटी मदोला रुद्रप्रयाग के लोगों ने समाज को आईना दिखाया है। जोशी विगत काफी समय से रिवर्स पलायन के लिए युवाओं को प्रोत्साहित कर रहे हैं।

उनका कहना है यह मात्र एक क्वॉरेंटाइन सेंटर नहीं है बल्कि यह रिवर्स पलायन में युवाओं के लिए एक मॉडल है इसी तर्ज पर सामूहिक रूप से राज्य प्रथम की भावना के साथ उत्तराखंड में विकास की एक नई इबारत लिखी जा सकती है।
आचार्य जोशी का कहना है कोरोना वायरस संकटकाल मैं वह 100 से भी अधिक हुनरमंद युवाओं को रिवर्स पलायन के लिए प्रोत्साहित करने में सफल रहे है।
लॉक डाउन खुलने के बाद वह देहरादून सहित संपूर्ण राज्य में युवाओं के लिए विशेष अभियान चलाएंगे सर्वप्रथम उन्हें मानसिक रूप से स्वरोजगार हेतु प्रोत्साहित करेंगे, उनका स्वप्न है देवभूमि उत्तराखंड वैलनेस का एक बड़ा हब बने। ऑर्गेनिक खेती, बागवानी, पुष्प उत्पादन, मधुमक्खी पालन, के साथ-साथ गांव में जड़ी-बूटी उत्पादन हो।
गांव को डिवाइन विलेज के रूप में विकसित कर तीर्थ यात्रियों को यहां के गांव में रहकर स्वास्थ्य लाभ के साथ-साथ आध्यात्मिक लाभ मिले योग और आयुर्वेद केंद्रों के माध्यम से उनका उपचार में हो

9 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here