राजधानी देहरादून में धूमधाम से मना गणतंत्र दिवस, राज्यपाल ने परेड की सलामी ली

देहरादून। राजधानी देहरादून में गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया गया। मुख्य समारोह परेड मैदान देहरादून में आयोजित किया गया, जहां कि राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली। गणतंत्र दिवस समारोह में कलाकारों द्वारा अनेक मनोहारी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गई। राज्यपाल द्वारा उत्कृष्ठ कार्य के लिए पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया गया।

 71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने रविवार सुबह साढ़े दस बजे परेड ग्राउंड में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में ध्वजारोहण किया तथा राष्ट्रीय ध्वज को नमन करते हुए परेड की सलामी ली। इस दौरान सेना, आइटीबीपी, पुलिस, पीएसी, होमगार्ड, पीआरडी के जवानों सहित एनसीसी की टुकड़ियों ने मार्च पास्ट करते हुए राज्यपाल को सलामी दी। राज्य के लोक कलाकारों ने भी अपनी नृत्य कला का मनोहारी प्रदर्शन किया। राज्यपाल ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कर्तव्यपरायण पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया। समारोह में प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, मेयर देहरादून सुनील उनियाल गामा, स्थानीय विधायक खजान दास, मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह, डीजीपी अनिल रतूड़ी, अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश सिंह, राज्यपाल सचिव आर के सुधांशु, सहित पुलिस तथा प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, जनप्रतिनिधि, विशिष्ट गणमान्य अतिथि एवं जनसामान्य भी उपस्थित थे।  गणतंत्र दिवस के अवसर पर परेड ग्राउंड में विभिन्न सांस्कृतिक दलों की ओर से छोलिया, गढ़वाली, कौथिक, बसंत, हारूल, पौणा नृत्य, खुकुरी नृत्य, रंगपा नृत्य, नन्दादेवी राजजात आदि का प्रदर्शन किया गया। मोना बाली और हेमंत बिष्ट की ओर से कार्यक्रम में उद्घोषक के रूप में कार्य किया गया। परेड ग्राउंड में 12वीं गढ़वाल, आइटीबीपी, उत्तराखंड पुलिस, हिमाचल प्रदेश पुलिस, उत्तराखंड विशेष पुलिस, महिला दल 40 बटालियन पीएसी, उत्तराखण्ड विशेष पुलिस 31 बटालियन, होमगार्ड, पीआरडी, एनसीसी ब्वाइज-गर्ल्‍स तथा गौरव सेनानी प्लाटून ने मार्चपास्ट में प्रतिभाग किया। मार्चपास्ट करने वाली टुकड़ियों में 12वीं गढ़वाल राईफल को प्रथम, एनसीसी ब्वाइज एंड गर्ल्‍स को द्वितीय तथा आइटीबीपी दल को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम के दौरान एमडीडीए, एसडीआरएफ, स्मार्ट सिटी, उरेडा विभाग, नागरिक उड्डयन विभाग, बाल विकास विभाग, स्वजल ग्राम विकास, संस्कृति एवं पर्यटन विभाग, उद्यान विभाग, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, उद्योग विभाग एवं नागरिक सुरक्षा विभाग की ओर से विभिन्न कार्यक्रमों, योजनाओं तथा नीतियों पर आधारित झांकियों का भी प्रदर्शन किया गया। महिला एवं बाल विकास विभाग की झांकी को प्रथम, उरेडा विभाग को द्वितीय, उद्यान विभाग तथा संस्कृति एवं पर्यटन विभाग को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। परेड ग्राउंड में आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के सात पुलिस अधिकारियाें को विशिष्ट और सराहनीय सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया गया। नैनीताल के उप निरीक्षक त्रिलोचन जोशी को विशिष्ट सेवा के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया। विजिलेंस के सीओ मौहम्मद इकबाल फातेह, पुलिस मुख्यालय पर तैनात सीओ रमेश कुमार पाल, इंस्पेक्टर वीरेंद्र दत्त उनियाल, एटीसी के उप निरीक्षक मोहन गिरी, 31वीं वाहिनी पीएसी के प्लाटून कमांडर दिनेश चंद और हरिद्वार में तैनात उप निरीक्षक विशेष श्रेणी विक्रम सिंह को सराहनीय सेवाओं पर पुलिस पदक दिया गया। पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी और पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने उन्हें शुभकामनाएं दी है।

केंद्रीय गृह मंत्री पदक

-अखलाख हुसैन, आरक्षी. पीटीआई, पीटीसी नरेंद्रनगर।

-विरेंद्र कुमार गैरोला, उप निरीक्षक अध्यापक आरटीसी देहरादून।

-देवानंद बलूनी, उप निरीक्षक अध्यापक पीटीसी नरेंद्रनगर।

-भुवन चन्द्र भट्ट, उप निरीक्षक पीटीसीआई आरटीसी देहरादून।

 -श्री मनीष जस्वाल, निरीक्षक, पीटीसी नरेन्द्रनगर।

उत्कृष्ट सेवा के लिए (सेवा के आधार पर) राज्यपाल उत्कृष्ट सेवा पदक

-विक्रम सिंह नेगी, उप निरीक्षक विशेष श्रेणी नागरिक पुलिस, जनपद हरिद्वार।

-हरि सिंह, हेड कान्स0 आई.आर.बी द्वितीय।

-कंवर पाल, आरक्षी, सतर्कता मुख्यालय देहरादून।

विशिष्ट कार्य के लिए राज्यपाल उत्कृष्ट सेवा पदक

 -रविन्द्र शाह, उप निरीक्षक नागरिक पुलिस जनपद हरिद्वार।

-अर्जुन कुमार, उप निरीक्षक नागरिक पुलिस जनपद हरिद्वार।

-अमित कुमार, आरक्षी नागरिक पुलिस जनपद हरिद्वार।

-प्रभाकर, आरक्षी जनपद हरिद्वार।

राजभवन में राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने सुबह साढ़े आठ बजे ध्वजारोहण करके राष्ट्रीय ध्वज को सलामी दी। उन्होंने देश की आजादी के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले आजादी के महानायकों व संविधान निर्माताओं के प्रति सम्मान और आभार व्यक्त करते हुए उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी। राजभवन में ध्वजारोहण के पश्चात राजभवन के अधिकारियों व कर्मचारियों में मिठाईयां वितरित की।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री आवास में ध्वजारोहण किया। मुख्यमंत्री ने उपस्थित अधिकारियों, कार्मिकों एवं पुलिस के जवानों को संविधान की प्रस्तावना की शपथ दिलाई। उधर, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने सचिवालय परिसर में ध्वजारोहण किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here