निगेर के ग्रामीणों ने जताया रोष

टिहरी। नगरपालिका देवप्रयाग का कूड़ा ग्राम पंचायत निगेर क्षेत्र में डंप किए जाने पर ग्रामीणों में रोष जताया है। ग्रामीणों का कहना कि कूड़े में अस्पतालों में उपयोग की गई सामग्री होने से आस-पास के क्षेत्र में महामारी फैलने का खतरा बना है। उन्होंने उक्त स्थान पर तत्काल कूड़ा डालने पर रोक लगाने की मांग की है। देवप्रयाग के ग्राम पंचायत निगेर क्षेत्र में कूड़ा फेंके जाने पर ग्राम प्रधान दीपक बेड़वाल ने नगरपालिका देवप्रयाग से कड़ी आपत्ति जताते तत्काल इसे रोके जाने की मांग की है।
पालिका ईओ को पत्र भेजकर ग्राम प्रधान ने कहा कि गांव क्षेत्र के अंतर्गत धौलीधार व सेरा गांव के बीच जहां कूड़ा डाला जा रहा है वहां से महज पचास मीटर दूरी पर गांव की बस्ती है। पालिका के कूड़े में अस्पताल का कूड़ा-करकट डाले जाने से प्रदूषण का खतरा लगातार बढ़ रहा है। कहा नगरपालिका बिना अनुमति ही यहां कूड़ा डाल रही है। विशेष परिस्थिति में पालिका को कूड़ा डंपिंग के लिए स्थान दिया जा सकता था, मगर पालिका ने पंचायत स्थित देवप्रयाग गजा मार्ग पर कूड़ा डंप करना शुरू कर दिया है। कूड़े को लावारिश तथा पालतू जानवर दूर-दूर तक फैला रहे हैं। कूड़े के कारण क्षेत्र में लगातार दुर्गन्ध फैल रही है। जिससे संक्रामक बीमारियों के फैलने के खतरे को देखते हुए क्षेत्रवासी सहमे हैं। उधर पालिका ईओ बीएस बिष्ट का कहना कि निगेर गांव के ग्रामीणों की तरफ से उन्हें शिकायती पत्र मिला है। भविष्य में किसी सुरक्षित स्थान पर कूड़े का निस्तारण किया जाएगा। कूड़े के स्थाई समाधान के लिए नगर क्षेत्र में 21 लाख रुपये की लागत से कूड़ा घर का निर्माण किया जा रहा है। तभी कूड़े की समस्या का समाधान हो सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here