डेंगू’ की पूर्व रोकथाम को लेकर डीएम ने ली बैठक

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में  ‘‘वैक्टर जनित रोग-डेंगू’’ की पूर्व रोकथाम के सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग, सम्बन्धित विभाग और संस्थाओं-संगठनों के सदस्यों के साथ बैठक आयोजित की गयी। जिलाधिकारी ने बैठक में कहा कि हालांकि वैक्टर जनित रोग वातावरण में नमी धारण करने के दौरान पनपते हैं, फिर भी बैठक का मकसद समय रहते ही पहले से ही मच्छरों के प्रकोप से होने वाली बिमारियों की रोकथाम करना है। इसी उद्देश्य से उन्होंने स्वास्थ्य विभाग और अन्य सहयोगी विभागों को पहले से ही डेंगू मच्छरों की रोकथाम के लिए प्रयास करने के निर्देश दिये। उन्होंने चिकित्सा विभाग को समय रहते पिछले कुछ वर्षों के दौरान जनपद में अधिक प्रभावित क्षेत्रों की नगर निगम के समन्वय से स्थानों के चिन्हिकरण व मैपिंग करने तथा समय पूर्व उपकरण-दवा इत्यादि के क्रय-टेण्डरिंग की व्यवस्था समय से सम्पादित करने के निर्देश दिये।
उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को इस सम्बन्ध में किये जाने वाले सुधारात्मक उपायों को सूचित करने और कार्यवाही करने को अन्य रेखीय विभागों को सूचित करने एवं समन्वय करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने सम्बन्धित विभागों को आपस में समन्वय करते हुए जागरूकता अभियान चलाने के साथ ही अन्तर विभागीय सहयोग के लिए पहले से ही तैयारी करने के निर्देश दिये। उन्होंने व्यापार मण्डल से भी वैक्टर जनित रोग नियंत्रण हेतु जनजागरूकता लाने के लिए सहयोग की अपेक्षा की।
जिलाधिकारी ने नगर निगम को समय रहते विभिन्न क्षेत्रों के पाषर्दों के साथ साफ-सफाई और लोगों को जागरूक करने के लिए बैठक करते हुए इस सम्बन्ध में अग्रिम कार्यवाही करने तथा समय से पर्याप्त सफाईकर्मी, छिड़काव दवाएं इत्यादि से व्यवस्थाएं सम्पादित करने के निर्देश दिये। उन्होंने जल संस्थान को बरसाती पानी के बेहतर निकासी करने के लिए लगातार प्रयास करने के निर्देश दिये। कहा कि जिन क्षेत्रों में अधिक मच्छर का प्रकोप रहा है वहां पर आसपास की दशा का अध्ययन करें कि किस कारण से वहां अधिक मच्छर पनपते हैं जो भी भौतिक सत्यापन में चीजें सामने आयेंगी तो उस पर अभी से कार्य करें। उन्होंने व्यापार मण्डल के सदस्यों से भी लोगों के बीच व्यापक प्रचार-प्रसार, साफ-सफाई, जल निकासी की दुरूस्त व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग की अपेक्षा की।
जिलाधिकारी ने लोगों को कूलर, गमलों, वाहन के टूटे टायरों अथवा अन्य टूटे बर्तन, प्लास्टिक सामग्री में रूके पानी इत्यादि को हटाने के लिए लोगों को अवेयर करने के निर्देश दिये और इस सम्बन्ध में लोगों के बीच वीडियो-फोटो-पम्पलेट इत्यादि के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये। उन्होंने ग्रामसभा की खुली बैठक में भी स्वाईन फ्लू, डेंगू, बेटी बचाओ, बेटी पढाओ अभियान इत्यादि से सम्बन्धित बातों से लोगों को भी बताने के निर्देश दिये। नगर निगम में शिकायत हेल्पलाईन न0 को भी एक्टिव रखने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होंने सभी विभागों और संगठनों के सदस्यों को सामूहिक प्रयास करते हुए पहले से ही वैक्टर जनित (मच्छरों से होने वाले रोग) रोग के प्रकोप को रोकने हेतु पहले से ही प्रयास करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ मीनाक्षी जोशी, स्वास्थ्य अधिकारी नगर निगम डाॅ आर.के सिंह, उप मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ एन.के त्यागी, मलेरिया अधिकारी डाॅ सुभाष जोशी, जिला पंचायतराज अधिकारी एम.जफर खान सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here