छात्राओं को शासकीय कार्यों से अवगत कराने को कार्यभार ग्रहण करवाया

देहरादून। जनपद में महिला दिवस से पूर्व विभिन्न विद्यालयों की छात्राओं को जिला प्रशासन द्वारा लोगों को केन्द्र एवं राज्य सरकार की नीतियों व कार्यक्रमों का जिला प्रशासन व विभिन्न विभागों द्वारा किये जाने वाले क्रियान्वयन की जानकारियां प्रदान करने तथा प्रशासन के अनुभव प्रदान करने के लिए विभागीय कार्यालयों में कार्यालयाध्यक्ष के रूप में कार्यभार ग्रहण करवाया गया। जिला कार्यालय में जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अपने समकक्ष के लिए एम.के.पी पीजी कालेज की बी.काम की छात्रा शगुन कटारिया को शुभकामना देते हुए प्रशासनिक पदों के उत्तरदायित्वों के बारे में जानकारी दी। जिला कार्यालय के खनन, नजारत, संयुक्त कार्यालय, राजस्व अभिलेखागार, सूचना, निर्वाचन, आपदा समेत विभिन्न विभागों की कार्य गतिविधियों का स्थलीय निरीक्षण अपर जिलाधिकारी प्र0 रामजी शरण शर्मा द्वारा सम्पादित कराया गया।
जिला कार्यालय में जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने महिला दिवस पर महिला सम्मान को बढावा दिये जाने की जिला प्रशासन की पहल पर छात्राओं को शासकीय कार्यालयों की कार्यशैली एवं आमजनता को शासकीय योजनाओं से अवगत कराने का प्रयास किया गया। इस कड़ी में आज जिलाधिकारी द्वारा विभिन्न कार्यों को सम्पादित करने की प्रक्रिया और जिलाधिकारी के पास विभागीय तथा जनता की ओर से व्यक्तिगत एवं सामुहिक प्राप्त होने वाले प्रकरणों से भी अधिकारी नामित हुई बालिकाओं को अवगत कराया गया। जिलाधिकारी के सम्मुख इस दौरान कलेक्टेªट सभागार में विभागीय अधिकारियों द्वारा प्रस्तुत की गयी विभिन्न पत्रावलियों, अधीनस्थ कार्मिकों की अवकाश स्वीकृति से सम्बन्घित प्रक्रिया तथा फरियादियों की ओर से विभिन्न आवेदन पत्र प्रस्तुत किये गये। प्रस्तुत किये गये आवेदनों में धारावाला में दुल्हनी नदी में कचरा डम्प किये जाने का आवेदन जिस पर जिलाधिकारी ने उपायुक्त नगर निगम को कार्यवाही के निर्देश दिये। विकासनगर से खेमचंद गुप्ता द्वारा भूमि का सीमांकन करवाने, हरियावाला खुर्द में भी भूमि का सीमांकन करवाने, विकासनगर में सुभाष जोशी द्वारा भूमि पर रास्ते के  आवेदन के क्रम में जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी विकासनगर को कार्यवाही हेतु अग्रसारित किया  गया तथा दूरभाष पर भी आवश्यक निर्देश दिये। इसके अतिरिक्त शस्त्र लाईसेंस का विस्तार करने सम्बन्धित आवेदन, ध्यान सिंह राणा द्वारा पौड़ी जनपद से सम्बन्धित सूचना के अधिकार के तहत् प्राप्त आवेदन को जिलाधिकारी ने सम्बन्धित जनपद को अग्रसारित करने के निर्देश दिये। कड़वापानी क्षेत्र भ्रमण करने के लिए जिलाधिकारी को आवेदन प्राप्त हुआ। नन्दा की चैकी कोल्हूपानी में पुश्तैनी भूमि में रास्ते हेतु आवेदन प्राप्त हुआ, इसके अतिरिक्त फरियादियों द्वारा मौखिक रूप से स्वंय उपस्थित होकर की गयी शिकायतोंध्अनुरोध पर भी सुनवाई की गयी।  जिलाधिकारी इन सभी प्रशासनिक कार्यों की प्रक्रिया के दौरान अधिकारी नामित बालिका को ब्रीफ करते रहे।
इसके तहत् कु0 पायल डीएवी पीजी कालेज ने अपर जिलाधिकारी (विध्रा), कु0 हिमानी राणा मुख्य चिकित्साधिकारी, नितिका कन्नौजिया मुख्य विकास अधिकारी, रोमा अग्रवाल ने मुख्य शिक्षा अधिकारी, स्वातिका काम्बोज जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक, नमिता नौटियाल ने जिला प्राबेशन अधिकारी , शीतल मनवाल ने पर्यटन अधिकारी , अंकिता जगूड़ी ने अधिशासी अभियन्ता  जल संस्थान, स्वर्णिम सजवाण ने अधिशासी अभियन्ता विद्युत के अलावा कई अन्य छात्राओं  को शासकीय कार्य सम्पादन की जानकारी कार्यालयाध्यक्षों द्वारा दी गयी। विभिन्न कार्यालयों की प्रशासनिक गतिविधियों से अवगत होने के उपरान्त अधिकारी नामित बालिकाओं द्वारा जिलाधिकारी, अपर जिलाधिकारी विध्रा बीर सिंह बुदियाल, नगर मजिस्टेªट अनुराधा पाल तथा अन्य सम्बन्धित अधिकारियों के साथ लंच के दौरान अपने अनुभव तथा फीडबैक साझा किये। प्रशासनिक गतिविधियों को बारिकी से समझते हुए छात्राओं ने अपने पद एवं दायित्वों का अनुभव प्राप्त किया साथ ही छात्राओं ने इस प्रकार महिलाओं का सम्मान कर सौंपे गये दायित्वों की अनुभूति के लिए जिला प्रशासन के प्रयास की सराहना की। अधिकारी नामित बालिकाओं ने कहा कि आज प्रशासनिक कार्यों का धरातलीय अनुभव प्राप्त करने के उपरान्त उनकी सोच में बड़ा परिवर्तन आया है। कहा कि इससे पहले वे सोचती थी कि जिलाधिकारी तथा अन्य अधिकारी बहुत फुर्सत में रहते हैं और उनके कार्य बड़े आसान होते हैं, लेकिन आज वस्तुस्थिति से अवगत होने के उपरान्त पता चला कि अधिकारी बनना जितना कठिन है उससे अधिक अधिकारी की जिम्मेदारियों का वहन करना कठिन होता है। कहा कि हमने देखा कि सभी अधिकारी कितने व्यस्त होते हैं और उन पर बहुत सारे कार्यों को एक साथ निपटाने का बहुत अधिक प्रेशर होता है। उन्होंने जिलाधिकारी कार्यालय का अनुभव साझा करते हुए कहा कि हमने देखा कि किस तरह से जिलाधिकारी महोदय एक तरफ विभागीय अधिकारियों द्वारा प्रस्तुत की गयी पत्रावलियों का बारिकी से अवलोकन कर रहे थे तथा तद्नुसार स्पष्टीकरण ले रहे थे तथा आवश्यक दिशा निर्देश दे रहे थे, वहीं दूसरी तरफ फरियादियों द्वारा प्रस्तुत किये गये शिकायती आवेदनों की सुनवाई कर रहे थे तथा मौके पर ही सम्बन्धित अधिकारी को दूरभाष पर समाधान के निर्देश दे रहे थे। इसी बीच बैठक में प्रतिभाग करना तथा बीच-बीच में मिलने आने वाले व्यक्तियों की बात सुनना तथा सबसे बड़ी बात पूरी उर्जा के साथ और विनम्रता के साथ किस तरह से सबकी बात सुन रहे थे और समस्या का सटीक समाधान प्रस्तुत कर रहे थे। इसके पश्चात जिलाधिकारी ने बालिकाओं के भावी फ्यूचर तथा कैरियर के बारे में पूछा तो बालिकाओं ने अपने-अपने पसन्दीदा क्षेत्र में सेवा करते हुए राष्ट्र सेवा करने की बात कही। अन्त में जिलाधिकारी ने सभी बालिकाओं को प्रेरित करते हुए कहा कि सभी वादा करें कि जब आज यहां से जाओगे तो आज के बाद भविष्य में आज नामित पद के अनुसार आचरण करेंगे, अपने स्कूल कालेज के साथ भी परिवार एवं फे्रण्ड सर्किल में भी लोगों से अपने अनुभव साझा करते हुए अच्छा नागरिक बनने तथा संवैधानिक कर्तव्यों के अनुसार आचरण करने को प्रेरित करेंगे। कहा कि आज जनपद में प्रारम्भ की गयी यह अभिनव पहल तभी सार्थक समझी जायेगी, जब आप एक अच्छे नागरिक के सभी कर्तव्यों का स्वयं भी निर्वहन करेंगे तथा यथा  संभव दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित कर पायंगें इसी के साथ जिलाधिकारी ने सभी बालिकाओं को उनके अग्रिम भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए उनके आवास के लिए रवाना किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here